Monday, May 16, 2011

राह-ए-ज़िंदगी

साँसे टूटी तो आखरी सफ़र
में आए लोग इतने
मगर राह-ए-ज़िंदगी
में शरीक हुए कितने?

(c) shubhra
May 16, 2011